All Stories

1-     एक ट्वीट और तीन माह  से बंधक बीमार महिला मुक्त                                                                                                                        

 

            दिनांक 7 सितम्बर 2016 को @prakashsony13  हैंडल से सूचना मिली कि                       “ @bastipolice श्रीमान पुलिस अधीक्षक ग्राम-रसूलपुर नाम जगदेव सोनार अपनी पोलियोग्रस्त बीवी को प्रताड़ित कर रहा है और एक कमरे में बंद कर रखा है l” इस सूचना का त्वरित संज्ञान लेते हुए बस्ती पुलिस के सोशल मीडिया सेल द्वारा सूचनाकर्ता से संपर्क मोबाइल नंबर , पता व अन्य जानकारी ली गयी तथा पाया गया कि प्रकरण थाना-पुरानी बस्ती ग्राम-रसूलपुर का है l

         इस सूचना पर SHO पुरानी बस्ती श्री आर0 के0 गौतम तत्काल उसके घर पहुच गए तो पाया कि चाय की दुकान चलाने वाला जगदेव अपनी दूसरी पत्नी कंचन (35 वर्ष) को अपने घर में तीन माह से कैद कर रखा है l कंचन ने विवाह के 10 माह बाद एक बच्चे को जन्म दिया व इसके कुछ ही माह बाद कंचन को लकवा मार गया l

   SHO पुरानी बस्ती व उनकी टीम द्वारा कंचन की आर्थिक मदद कर समुचित इलाज कराया गया l

 

   
2-       उत्तर प्रदेश पुलिस ने दिया अनाथ नवजात को नया जीवन

हरि के रूप में मिले सिपाही हरिमिलन


दिनाॅंक 02.09.16 को श्री नन्दराम पैड मैन रेलवे स्टेशन सिधौली सीतापुर द्वारा प्रभारी निरीक्षक सिधौली सीतापुर को सूचना दी गयी कि रेलवे ट्रैक स्टेशन सिधौली के पास एक नवजात शिशु कपड़े में लिपटा हुआ पड़ा है। इस सूचना पर थाना सिधौली सीतापुर में नियुक्त आरक्षी हरिमिलन सिंह एवं महिला का0 ऊषा कुमारी द्वारा बिना समय गवायें सी0एच0सी0 सिधौली ले जाकर उसका प्राथमिक उपचार कराया गया। जिसे चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्राथमिक उपचार के पश्चात उक्त पुलिस कर्मी की देखरेख में सी0एच0सी0 सिधौली से जिला अस्पताल सीतापुर रेफर कर दिया गया, जहां उसका उपचार पुलिस की देखरेख में किया गया। अब नवजात शिशु पूर्णतः स्वस्थ है तथा बाल कल्याण समिति सीतापुर के आदेश दि0 03.09.16 को पत्रांक 112-118/बा0का0सं0 सीतापुर/प्रवेश नवजात शिशु के द्वारा नवजात शिशु को वरदान शिशुगृह(विशेष दत्तक ग्रहण) अभिकरण मानसी 14/15 इन्दिरा नगर लखनऊ संरक्षिका श्रीमती मंजू दुबे द्वारा दि0 06.09.16 को जिला अस्पताल सीतापुर से नियमानुसार प्राप्त  करके अपने संरक्षण में लेकर उक्त स्थान ले जा चुकी है। थाना सिधौली पुलिस द्वारा तत्परता से की गयी कार्यवाही के कारण ही नवजात शिशु आज जीवित अवस्था में है। पुलिस कर्मियों की इस कार्य की जनता/सोशल मीडिया द्वारा काफी सराहना की गयी है।

3-       बहादुर दरोगा ने नहर में डूबते अधेड़ को बचाया

दिनांक 11.08.2016 को इन्दिरा नहर में श्री रज्जाक निवासी उत्तरधौना थाना चिनहट जनपद लखनऊ के डूबने की सूचना पर जनपद लखनऊ के थाना चिनहट पर तैनात उ0नि0 श्री अशोक कुमार सिंह द्वारा सी0सी0आर0 द्वितीय के साथ इन्दिरा नहर पर पहुंच कर अधेड़ श्री रज्जाक को नहर से अथक प्रयासों से बाहर निकाल कर जान बचायी गयी। पुलिस द्वारा तत्परता से किये गये इस कार्य की जनता/सोशल मीडिया द्वारा काफी सराहना की गयी है।   

 

 

4- बारात आने से पहले लगी आग मे तबाह हुआ घरबस्ती पुलिस ने करायी शादी ” 

 

                               

दिनांक 13-07-16 को ग्राम उमरा खास में राम प्रसाद गुप्ता की बेटी की शादी थी घर पर शाम को ही बारात आनी थी लेकिन लगभग 3:00 बजे बारातियों का जिस स्थान पर खाना बन रहा था उसी स्थान पर बेटी को शादी में दिए जाने वाला दान का सामान डबल बेडआलमारीबड़ा बक्साछोटा बक्सागद्दा,तकिया आदि रखा था गैस के चूल्हे से अचानक आग लग गई जिसकी सूचना 100 द्वारा रुधौली पुलिस को प्राप्त हुई इस सूचना पर SHO रणधीर कुमार मिश्र, HCP मिर्जा वहीद वेग,काजोखन यादवकाऋषि कपूर को लेकर मौके पर पहुचें फायर सर्विस की गाड़ी भी मौके पर आ गई लेकिन तब तक खाने पीने का सामान व दान देने का सामान आग की लपट में पूर्णत: जल गयापूरा परिवार पुलिस से लिपट कर रोने लगा ऐसे में परिवार के आंसू पोछने का कोई विकल्प नहीं होने के कारण SHO रणधीर कुमार मिश्र ने गांव के कोटेदार व ग्राम प्रधान की मदद से एवं स्वयं के द्वारा सामानों की व्यवस्था कर के शादी को सकुशल संपन्न कराया गया। इस कार्य की जनता/सोशल मीडिया द्वारा काफी सराहना की गयी है।  

 

5-             उत्तर प्रदेश पुलिस के सिपाहियों ने फिर पेश की इमानदारी की मिसाल 

 

 

महिला को पर्स लौटाते सिपाही।


 जनपद गोरखपुर के गुलरिहा थाने में तैनात सिपाही गोपाल मिश्र और संजय राय दिन में गश्त में निकले थे। इस दौरान अशरफपुर के पास सड़क पर गिरा एक पर्स उन्हें मिला। पर्स की तलाशी लेने पर रुपये, आधार कार्ड और मोबाइल फोन मिला। आधार कार्ड पर लिखे पते से पता चला कि पर्स करमहा बुजुर्ग निवासी जयकरन की पत्नी इंद्रावती देवी का है। सिपाहियों ने ग्राम प्रधान को फोन कर इंद्रावती को थाने पर बुलवाया और उनका पर्स वापस लौटा दिया।पर्स में 23500 रुपया नकद और आधार कार्ड और मोबाइल फोन रखा था।

            इंद्रावती ने बताया कि दोपहर में वह बेटी के साथ साइकिल से पूर्वाचल ग्रामीण बैंक, गुलरिहा बाजार में रुपया जमा करने निकली थीं। रास्ते में उनका पर्स गिर गया। बैंक पहुंचने के बाद इसकी जानकारी होने पर उन्होंने पर्स खोजने की काफी कोशिश की लेकिन पता नहीं चला। आखिरकार निराश होकर वह घर लौट गईं।पर्स लौटाने पर दोनों सिपाहियों के प्रति वह बार-बार आभार जता रही थीं।

 

6-                सिपाही ने दृष्टिबाधित के गिरे रूपये घर पहुंचाए

 

जनपद लखनऊ के थाना मोहनलालगंज कोतवाली पर तैनात आरक्षी अभय प्रताप सिंह ने ईमानदारी की मिसाल पेश की। आरक्षी अभय प्रताप सिंह ने दृष्टिबाधित के गिरे रूपयों को उसके घर जाकर वापस किया। आरक्षी अभय प्रताप सिंह को शुक्रवार की सांय घर के पास रास्ते पर 3,200 रूपये पड़े मिले। अभय प्रताप द्वारा मौके पर पड़ताल की लेकिन जानकारी नही हुई, बाद में पता चला कि यह रूपये सब्जी की दुकान चलाने वाले दृष्टिबाधित आजाद वारिस के हैं। आजाद वारिस के पुत्र आरिफ ने यह रूपये अपने पिता को रखने के लिए दिये थे लेकिन दृष्टिबाधित होने के कारण रूपये ठीक से रख नही सका और रास्ते में गिर गये। उसके बाद आरक्षी द्वारा उस दृष्टिबाधित की जानकारी कर उसके रूपये लौटाए। ग्रामीणों और मीड़िया द्वारा आरक्षी अभय प्रताप सिंह की  ईमानदारी की प्रशंसा की गयी।

 

7-         उप निरीक्षक दिलीप कुमार मिश्र ने बचायी युवती की जान

 



दिनांकः 03-11-2016 को अपरान्ह लगभग 02-00 बजे थाना महानगर क्षेत्रान्तर्गत हनुमान सेतु के पास एक लड़की के गोमती में कूदकर आत्महत्या का प्रयास करने की सूचना प्राप्त हुई। इस सूचना पर श्री दिलीप कुमार मिश्रा, प्रभारी चौकी न्यू हैदराबाद तत्काल मौके पर पहुॅंचकर लड़की को  गोमती नदी में कूदने से बचाया गया। इस कार्य को जनता द्वारा सोशल मीडिया में काफी सराहना की गयी ।

 

8-      कैंसर पीड़ित विदेशी महिला को गाज़ियाबाद पुलिस ने दिया एक दिन का वेतन

 

श्री दीपक कुमार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद, कैंसर पीड़ित विदेशी महिला श्रीमती डोरिस फ्रांसिस को कैंसर के ईलाज हेतु गाजियाबाद पुलिस के अधिकारियों व ट्रैफिक पुलिस द्वारा एकदिन का वेतन देकर सहयोग प्रदान किया गया । इस कार्य को जनता द्वारा सोशल मीडिया में काफी सराहना की गयी।

9-             उप निरीक्षक ने घायल को कंधे पर उठाकर दिखाई मानवता

दिनांक-12-10-16 को ग्राम गोधिया थाना भीरा जनपद खीरी के अन्तर्गत ताजिया के जुलूस के दौरान एक व्यक्ति मार्ग में घायल अवस्था में दिखाई दिया इस पर तत्काल ही उ0नि0 श्री अजय कुमार शर्मा घायल अवस्था में पड़े व्यक्ति को अपने कंधे पर उठाकर काफी दूर सरकारी जीप तक ले जाया गया तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिजुआ पहुॅंचाकर ईलाज कराया गया। इस कार्य को जनता द्वारा सोशल मीडिया में काफी सराहना की गयी।

 

10-   पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 एवं समस्त उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दीपावली के अवसर पर अनाथ/बेसहारा बच्चों एवं वृद्धाश्रम में रहने वाले बड़े बुजुर्गों के साथ दीपावली मनायी गयी

 

          श्री जावीद अहमद, पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 द्वारा दिनांक 27-10-2016 को अपने परिपत्र के माध्यम से निर्देश दिये गये थे कि दिनांक 29-10-2016 को सायंकाल 6.00 बजे से 7.00 बजे के मध्य थाना प्रभारी, क्षेत्राधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, परिक्षेत्रीय पुलिस उपमहानिरीक्षक, जोनल पुलिस महानिरीक्षक अपने-अपने क्षेत्राधिकार में गरीब बेसहारा बच्चों, बुर्जुगों को अनाथालय में जाकर मिठाई, पटाखे इत्यादि लेकर दीपावली की शुभ कामनाएं दी जायें एवं उनके बीच कुछ समय व्यतीत करें।
        इसी परिप्रेक्ष्य में दिनांक 29-10-2016 को सायंकाल पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 एवं श्री ए0सतीश गणेश पुलिस महानिरीक्षक लखनऊ जोन द्वारा लखनऊ के थाना गुडम्बा क्षेत्रान्तर्गत आदिलनगर स्थित गायत्री परिवार ट्रस्ट के ‘समर्पण वरिष्ठ जन परिसर’ में पहुचें जहाॅ वरिष्ठ जन  परिसर के ट्रस्टी मेजर कुमार खरे, श्री आर0एस0 राठौर, इंजीनियर श्री एस0के0 त्रिवेदी द्वारा उनका स्वागत किया गया। पुलिस महानिदेशक द्वारा वरिष्ठ जन परिसर में बुर्जुगों को मिठाईयाॅ, सजावटी पटाखे एवं उपयोगी किताबें भेंट की गयी।  समर्पण एक सुसज्जित आधुनिक वरिष्ठ जन परिसर (Old Age Home) है जिसका निर्माण नगर निगम लखनऊ द्वारा 22 अगस्त 2005 में कराया गया था ।
        वरिष्ठ जन परिसर में रहने वाली राकेश कुमारी एवं श्रीमती शकुंतला द्वारा सेना के जवानों को समर्पित करते हुए जोशीली कविता सुनायी गयी । पुलिस महानिदेशक द्वारा सभी वरिष्ठजनों के साथ फुलझड़ी एवं अनार जलाये एवं सभी को शुभकामनाएं दी गयीं तथा वरिष्ठ जन परिसर के विजिटर बुक में अपनी टिप्पणी अंकित की गयी ।
        पुलिस महानिदेशक के निर्देश पर पूरे प्रदेश के समस्त थाना प्रभारी, क्षेत्राधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, परिक्षेत्रीय पुलिस उपमहानिरीक्षक एवं जोनल पुलिस महानिरीक्षकों द्वारा प्रदेश में हजारों स्थानों पर अनाथालय एवं गरीब/बेसहारा बच्चों तथा बुर्जुगों को मिठाई, पटाखे आदि देते हुए दीपावली की शुभकामनाएं दी गयी एवं उनके साथ समय व्यतीत किया गया।

 

11- श्री राजेश कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा अपने परिवार सहित अनाथालय आश्रम ‘‘मनीषा संस्थान’’ में जाकर पाॅंच हजार रूपये, मिठाई तथा पटाखे आदि दिये गये

                 

 

श्री राजेश कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक के द्वारा दीपावली के शुभ अवसर पर अपने परिवार सहित अनाथालय आश्रम ‘‘मनीषा संस्थान’’ में जाकर पाॅंच हजार रूपये का चेक दिया गया एवं मिठाई तथा पटाखे आदि दिये गये तथा दीपावली का त्यौहार मनाया गया। इस कार्य की जनता द्वारा सराहना की गयी।

 

12-            पुलिस बनी मित्र तो हुई बिटिया की सादी  

                         

जनपद लखनऊ के थाना कृष्णानगर क्षेत्रान्तर्गत स्थित गेस्ट हाउस के प्रबन्धक द्वारा नोटबन्दी के बाद चेक न स्वीकार किये जाने के कारण थाना कृष्णानगर पुलिस द्वारा हस्तक्षेप किये जाने के उपरान्त गेस्ट हाउस के प्रबन्धक द्वारा चेक स्वीकार किया गया जिससे शादी सकुशल सम्पन्न हुई। बेटी के पिता द्वारा पुलिसकर्मियों को धन्यवाद देते हुए उन्हें मिठाई खिलाई इस कार्य की जनता द्वारा सोशल मीडिया में काफी सराहना की गयी। 

 

13-            डायल 100 ने बचाई मुसाफ़िर की जान

 

                                       

 

गोरखपुर से लखनऊ जा रही बाघ एक्सप्रेस ट्रेन से एक व्यक्ति के गिरकर गम्भीर रूप से घायल हो जाने की सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंची स्थानीय थाने की डायल 100 द्वारा घायल व्यक्ति को अस्पताल पहुंचा कर व्यक्ति की जान बचाई। डायल 100 पुलिस की इस तत्परता से जनता द्वारा काफी सराहना की गई।

 

14-            सिपाही ने पेश की ईमानदारी की मिसाल

                  

जनपद लखनऊ के थाना महानगर में तैनात आरक्षी श्री राकेश कुमार को एक पर्स मिला तो उन्होने पर्स में मिले कागजों के आधार पर पते को खोज निकाला और महिला अधिवक्ता को थाना कोतवाली बुलाकर पर्स को सौंप दिया।

 

 

 

 

 

 

 

 

 


Control Room

100

Fire Brigade

101

Ambulance

108

Child Helpline

1098

This page is being maintained by   -