About us Chandauli

चन्दौली एक नजर में

दिनांक 25.05.1997 को उ0प्र0 सरकार के शासनादेश सं0 1436/01.05.197, 102/97-रा-5 के द्वारा पूर्व के जनपद वाराणसी की तीन तहसीलों सकलडीहा, चन्दौली एवं चकिया के भू-भाग के मिलाकर चन्दौली नाम के नूतन जनपद का सृजन किया गया। नव सृजित जनपद चन्दौली 24 डिग्री 14 मिनट उत्तरी अक्षाँस सें लेकर 25 डिग्री 35 मिनट पूर्वी देशाँतर के मध्य स्थित हैं। इस जनपद के पूरब में अन्तर्राज्यीय सीमा बिहार के थाना दुर्गावती, कैमूर, (भभुआं) से मिलती हैं। इस जनपद चन्दौली के थाना सैयदराजा, इलिया, चकिया, नौगढ़, चकरघट्टा से मिलती हैं। इनमें लगभग 25 किमी0 की सीमा कर्मनाशा नदी के द्वारा निर्धारित होती हैं और लगभग 45 किमी0 सीमा स्थलीय हैं। जिसमें समतल मैदान तथा दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र दोनो सम्मिलित हैं।

अन्तर्जनपदीय सीमा

      जनपद चन्दौली के उत्तर में गाजीपुर व वाराणसी पश्चिम में वाराणसी व सोमभद्र्, दक्षिण में केवल सोनभद्र् की सीमा मिलती हैं। वाराणसी व गाजीपुर जनपद की सीमा गंगा नदी निर्धारित करती हैं, जिसकी लम्बाई 80 किमी0 हैं। पश्चिम तरफ वाराणसी व सोनभद्र की सीमायें स्थलिय हैं। चन्द्रप्रभा एवं गरई नदी चन्दौली की भौगोलिक एवं आर्थिक स्थिति का निर्धारण करती हैं।

      जनपद में कुल 03 तहसीलें 1-चकिया, 2-चन्दौली, 3-सकलडीहा हैं। चकिया तहसील भौगोलिक रूप से जनपद के लगभग आधे भू-भाग को आवृत्त करती हैं। प्रत्येक तहसील में तीन-तीन खण्ड विकास क्षेत्र हैं। इस प्रकार जनपद में कुल 09 विकास खण्ड हैं।

      पुलिस व्यवस्था की दृष्टि से जनपद को कुल 16 थानों व 04 सर्किलों में विभाजित किया गया हैं। जिसमें से सर्किल सकलडीहा में थाना सकलडीहा, धीना, धानापुर, बलुआं, कंदवा हैं। सर्किल सदर में थाना मुगलसराय, अलीनगर, चन्दौली, सैयदराजा एवं महिला थाना तथा सर्किल चकिया में थाना चकिया, बबुरी, इलिया, शहाबगंज एवं सर्किल नौगढ़ में नौगढ़ व चकरघट्टा हैं।

      जनपद की जनसंख्या वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार 1952756 व्यक्ति हैं, जिसमें सें 1017905 पुरूष व 934851 महिला की जनसंख्या हैं। 399170 एससी/एसटी की जनसंख्या हैं। इस जनपद में एक लोक सभा व 03 विधान सभा क्षेत्र हैं जिसमें विधान सभा क्षेत्र 1-सकलडीहा, 2-सदरसदर, 3-मुगलसराय चन्दौली लोकसभा क्षेत्र में व विधान सभा क्षेत्र चकिया राबर्टसगंज लोक सभा क्षेत्र के अन्तर्गत आते हैं।

      इस जनपद के मध्य से दिल्ली-वाराणसी-कलकत्ता रेलमार्ग व एन0एच0-2 जी0टी0 रोड मुगलसराय, अलीनगर, चन्दौली, सैयदराजा थाना क्षेत्रों से होकर गुजरता हैं। 2011 की जमसंख्या के अनुसार चन्दौली जनपद में 1633 ग्राम हैं। जिसमें 1428 आबाद व 209 गैर आबाद हैं। जनपद में 102 न्याय पंचायत तथा 620 ग्रामसभा हैं। जनपद का भौगोलिक क्षेत्रफल 2484.6 वर्ग कि0मी0 हैं।

(2)

      इस जनपद के थाना सैयदराजा, चव्दौली, सकलडीहा, बबुरी व तकिया के उत्तरी क्षेत्र को प्रदेश में धान के कटोरे के रूप में ख्याति प्राप्त है। जनपद का नौगढ़ क्षेत्र बहुपयोगी जड़ी-बुटियों औषधियों एवं चिरौजी आदि के उत्पादन के लिए जाना जाता हैं। इस जनपद में चन्द्रप्रभा जल प्रपात मनोहारी दृश्य प्रस्तुत करता हैं। जिनमें राजदरी एवं देवदरी जलप्रपात प्रमुख हैं।

      उ00प्र0 राज्य में जनपद चन्दौली, सोनभद्र् व मीर्जापुर की सामाजिक, आर्थिक एवं भौगोलिक परिस्थितियाँ सीमावर्ती बिहार तथा झारखण्ड राज्य से साम्य रखती हैं। यह जनपद वनों एवं पहाड़ों से आच्छादित हैं। इस जनपद के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में निवास करने वाले लोगों की आर्थीक विपन्नता, अपर्याप्त आवागमन के संसाधन,चिकित्सास शिक्षा सम्बन्धी सुविधाओं की अल्पता नें इसे विकास की मुख्या धारा से अलग कर दिया। इन्ही परिस्थितियों का लाभ उठाकर बिहार एवं झारखण्ड के सक्रिय नक्सलियों नें विनन्नता में रह रही याह की जनता को अपने दलों में शामिल होने हेतु उत्प्रेरित किया।

      जनपद चन्दौली के थाना नौगढ़ एवं चकरघट्टा का समस्त भू-भागतथा चकिया,शहाबगंज, इलिया, धीना,सैयदराजा, कंदवा का आंशिक भू-भाग नक्सल प्रभावित हैं, यह स्थान दुर्गम पहाड़ियें एवं जंगलो से आच्छादित हैं। पूर्वी सीमा बिहार प्रान्त से मिलती हैं। आबादी प्राय छोटे-छोटे गावों में जो दुर्गम पहाड़िये में स्थित हैं, रहती हैं।गाँव की अधिकतर जनता गरीब व अशिक्षित हैं। जिविकोपार्जन के लिए वनोत्पाद पियार, महुआ, तेंदु पत्ता, जड़ीबूटियों आदि पर निर्भर हैं और शहरो व कस्बों में जाकर दैनिक मजदूरी का काम करनें को बाध्य हैं।

जनपद चन्दौली के (नौगढ़) क्षेत्र के नक्सलवाद के पृष्ठभूमी को दो भागो में बाटां जा सकता हैं।

1-1990 से 1998 तक                                          2- 1999 से अब तक

प्रथम चरण में हत्या एवं अपहरण के कुल सात घटनायें थाना शहाबगंज, धीना एवं सैयदराजा में घटित हुई। इस प्रकार नक्सलवाद का प्रारम्भ थाना धीना, सैयदराजा एवं शहाबगंज में हुआ।

द्वितीय चरण में वर्ष 1999 से स्थिति परिवर्तित हो गयी। माओवादी कम्यूनिस्ट सेंटर जो शस्त्र क्रान्ति से साम्यवाद स्थापित करना चाहता हैं के द्वारा महत्वपूर्ण घटना गाँव मझगाँवा में दिनांक 18-05-1999 को की गयी। श्री हेमनाथ चौबे नि0 ग्राम मझगाँवा थाना नौगढ़ की हत्या तिराहे पर योजनाबद्ध तरीके से आपराधिक संगठन एम0सी0सी0 ग्रुप के नक्सलीयों द्वारा की गयी जिसमे हत्या का कारण स्कूल में चौकीदार के पद पर नियुक्त करनें का विवाद था। इस घटना का मुख्य अभियुक्त देवनाथ कोल फरार हो गया और उसने के एम0सी0सी0 ग्रुप के अपराधियों सें मिलकर अश्त्र शस्त्र नक्सली साहित्य, पोस्टर, पम्प्लेट आदि लाया और जगह-जगह वितरित किया। इसी क्रम में दिनांक 03-09-2000 को कर्मनाशा नदी पर ग्राम सहसुइयां के चोलयी यादव व बबुन्दर यादव की नृशंस हत्या एम0सी0सी0 ग्रुप के सदस्यों के द्वारा पंचायत करने के बहाने उन्हे बुलाकर दिन-दहाड़े कर दी गयी।

------0----0-----0-------

Mahila Samman Prakoshtha, U.P. Police

Mahila Samman Prakoshtha

9454401149

Mahila Samman Prakoshtha, U.P. Police

UP 100

Control Room

Fire Brigade

101

Fire Brigade

Ambulance

108

Ambulance

Women Help Power line

1090

Women Help Power line

Download Mobile App

Download Mobile App

Child Helpline

1098

Child Hepline